एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ

छवि स्रोत,सनी लियोन का ओपन बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी बीएफ इंडियन: एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ, जिस समय शादी हुई, भाई साहब 35 वर्ष के और भाभी मात्र 21 वर्ष की थीं.

सेक्सी बीएफ वीडियो जबरदस्ती

अचानक से उन्होंने मुझे अपने से चिपका लिया और अपना एक हाथ अपने चूत पर रगड़ने लगीं. सनी लियोन फुल बीएफमैं कुछ सोचने लगा तो चाची बोलीं- इतना शर्माओ मत, मुझे बहुत दर्द हो रहा है और वैसे भी यहाँ कोई नहीं है, जो तुम्हें देख लेगा.

मगर मुठ मारते वक्त गांव की सभी कुंवारी बालाओं व भौजाईयों की चूत मारता था. बांग्ला बीएफ एचडी वीडियोइस बार मैंने के टुकड़ा उनके मम्मों पर और दूसरा टुकड़ा उनकी चूत पर रख दिया और उन्हें फिराते हुए अपने मुँह से उनकी नाभि चूसने लगा.

फिर उसने खुद ही बोला कि सिर्फ मुझे नंगा करोगे, अपना कुछ नहीं दिखाओगे?उसके इतना कहते ही मैंने भी अपनी टी-शर्ट खोल दी और उसकी लैगीज को उसके पैरों से निकाल दिया.एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ: इधर मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैं अपने हाथ से अपने बूब्ज़ दबाने लगी.

ऐसा कभी मत सोचना वर्षा, हम मर गए हैं क्या कि तू खुदख़ुशी करेगी?”मुझे पहली बार सच में उस अकड़ू पर इतना प्यार आया कि मैंने उसे अपने सीने से लगा लिया और मेरी आँखों में आँसुओं की धारा बहने लगी.चाय से निबट के बहूरानी बोली- पापा जी, अब मैं कुछ देर सोना चाहती हूँ.

ब्लू ब्लू ब्लू बीएफ - एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ

सुबह सात बजे दूध वाला आया तो मेरी नींद खुली, देखा क्या… कि दीक्षा बिस्तर पर नहीं थी.ससुर बहू की कामुकता, शारीरिक आकर्षण, वासना, प्रेम और चुदाई की कहानी जारी रहेगी.

मुझे कई बार चाची की हरकतों से लगता था कि वो भी वही चाहती हैं जो मैं चाहता हूँ. एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ मैं थोड़ी देर रुका, थोड़ी देर बाद वो भी गांड उछाल कर मेरा साथ देने लगीं और हम लोग सब भूल कर काफी देर तक चुदाई करते रहे.

सभी दोस्तों को रौनक का नमस्कार! यारो, मैं अन्तर्वासना की कहानियां कई सालों से हमेशा पढ़ता आया हूँ.

एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ?

भाभी हंसने लगीं और बोलीं- मेरी जैसी क्यों?मैंने कहा- आप बेहद खूबसूरत हो और आप मुझे अच्छी भी लगती हो. काफी देर तक उन्होंने मेरी गांड मारी, मैंने भी अपनी गांड उठा उठा कर मरवाई. मेरे दोनों चूचे संजय के हाथों में खेल रहे थे और उसके गीले होंठ मेरी मखमली गरदन को मसाज दे रहे थे.

फिर हम दोनों स्टेशन जाने के लिए तैयार हुए, जाने से पहले स्वाति ने अपने बैग में से एक गिफ्ट पैक निकाला और मेरी तरफ बढ़ा दिया. जैसा कि मेरी पिछली सेक्स स्टोरीसेक्सी भाभी को चोदा तड़पा तड़पा करके अनुसार मुझे पायल भाभी कोई सरप्राइज़ देना चाहती थीं और मैं भी उन्हें एक सेक्सी सरप्राइज़ देने की सोच रहा था. फिर मैंने चॉकलेट के टुकड़ा उठाया और उसकी बुर के दाने पर रगड़ा तो वो मना करने लगी, वो बोली- वहां नहीं.

कार से दीदी और बाकी तीनों लोग बाहर आ गए और फार्म हाउस के बड़े गोदाम के अन्दर चले गए. फिर दिन में संजना घर आई, मैंने उसे घर में अन्दर बुलाया पर मैंने उसे कुछ नहीं कहा. वो भी तनिक लजा कर बोली- मैं भी तुमको पसन्द करती हूँ पर कभी कह नहीं पाई.

मर गई…शायद इतने दिनों की लंड की भूखी होने के कारण उन्हें दर्द का एहसास होने लगा था. अबकी बार कमल अपने लंड को मेरी गांड में डालने में कामयाब रहा और मैं चिल्ला उठी.

”हम बातें कर ही रहे थे कि तभी हीरो झड़ गया और उसका वीर्य हिरोईन ने अपने मुँह में भर लिया.

लंड के रास्ते इतना ज़्यादा मजा मुझे कभी नहीं आया था इतना उस समय दूसरे धक्के में आया क्योंकि पहले धक्के में मुझे भी बहुत दर्द हुआ था.

तब भाभी ने पैर गोद में ही लिए हुए पहले डेटोल से साफ किया और जैसे ही दवाई लगाने झुकीं, मेरा पैर उनके चुचे से छूने लगा. सानिया मेरी ओर देखने लगी तो मैंने उससे पूछ लिया कि उसे भी गाने सुनने हैं क्या?उसने हाँ की तो मैंने एक इयर प्लग निकाल कर उसे दे दिया और वो उसे अपने कान में लगा कर मेरे साथ गाने सुनने लगी. मेरे लंड को देख कर बहन बोलीं- ये पिछली बार से थोड़ा बड़ा और मोटा कैसे हो गया है?मैं बोला- मेहनत हुई है इसके साथ.

मैंने अंकल से बहाना मार दिया कि किसी सहेली के घर पार्टी है तो रात वहीं रुकूंगी और वो मान गए. दोस्तो, मैं एक बार फिर से हाजिर हूँ अपनी कहानी लेकर।मेरा नाम गोल्डी है, मैं दिखने में पतला और 6 फिट 2 इंच का 20 साल का अच्छा दिखने वाला लड़का हूँ। मेरा लंड 8 इंच का है और मोटा है जो अच्छी अच्छी लड़कियों औरतों का दम निकल सकता है। मेरी यह कहानी पूरी सच है. मैंने गौर किया कि दरअसल सभी सीडी में दिख रहे गुलाम, दीदी के ऑफिस में काम करने वाले शादीशुदा मर्द थे.

मैंने कहा- इस वक्त?उन्होंने कहा- देखो बंटी राजा, हम गाड़ी गाड़ी खेलते हैं.

ये तो हम दोनों के हथियारों को एक साथ बिना उफ़ करे दोनों छेदों में ले सकती है. मैं दूसरी मंजिल पर कविता के कमरे के बाहर सो रहा था और लुकाछिपी के बारे में सोचते सोचते मैं कभी कविता की चुची व होंठ तो कभी रीना के चुचे के बारे में सोच रहा था. मयूरी समझ गई थी कि इस 48 साल के आदमी ने अभी अभी अपने बच्चों आपस में सेक्स करते हुए देखा है और इसके मुँह से एक आवाज़ तक नहीं निकली थी, इसका मतलब ये जरूर कुछ न कुछ सोच रहा था, जोकि इस घर में हो रही चुदाई की पक्ष में था.

बस अपनी भाषा को सभ्य रखिएगा।कहानी जारी है।[emailprotected]गांड चोदन कहानी का अगला भाग :पंजाबन लड़की की गांड चोदन कहानी-2. उन्होंने लाल कलर की नाईटी पहनी थी और शायद उन्होंने नाईटी के नीचे ब्रा नहीं पहनी थी. मैंने बिना कुछ बोले उसकी जीन्स का बटन खोला और उसकी जीन्स और पैंटी नीचे कर दी.

पर कहते हैं न कि जब लंड खड़ा हो तो उस समय सिर्फ चूत ही दिखाई देती है और जब तक की वो शांत न हो जाए, कुछ समझ में नहीं आता.

कुछ हफ्तों में हमने सिलेबस कंप्लीट किया, पर उस दिन लिप किस वाली घटना का जिक्र दोबारा कभी नहीं हुआ. ”कैसे देखोगी? जैसे आज मेरे मोबाइल में तुझे मालूम पड़ गया, वैसे तेरे मोबाइल से किसी को पता चल जाएगा तो प्रॉब्लम हो जाएगी.

एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ फिर मैंने पूछा- अगर आप बुरा ना मानो तो कुछ पूछूँ?छाया- जी हां पूछो न!आपके बच्चे नहीं हैं, आप लोग भी कहीं फैशन के चलते कहीं ये तो नहीं सोच रहे हैं कि आपका फिगर खराब हो जाएगा?”छाया हंस दी, पर उसकी हंसी में वो अपना गम छुपा ले गई. अरविंद भैया की उम्र 26 हो चली थी चूँकि मम्मी बुर्के वाले धर्म से थीं तो उन्हें भैया की शादी की बहुत जल्दी थी और वो चाहती थीं कि भैया की शादी उनके मायके के धर्म की लड़की से हो.

एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ भाभी मेरे पास आईं और मुस्कुराते हुए पूछा- ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने झेंपते हुए कहा- कुछ नहीं. ये कहते हुए उसने मुँह छिपा लिया।मैंने उसके हाथ हटाते हुए बोला- कभी मना तो नहीं करोगी?नहीं.

उसे बेडरूम में से कुछ जानी पहचानी आवाज आने लगी और वो बेडरूम की तरफ बढ़ चला.

देहाती इंग्लिश बीएफ

फिर हम दोनों ने साथ में स्नान किया, कपड़े पहनते पहनते उन्होंने इच्छा जाहिर की- अब से हम दोनों हर शनिवार को सेक्स किया करेंगे. यही सोच कर पहली बार मिलने जयपुर का प्लान बनाया, वहां पहुँचते ही हमने पहले फ़िल्म देखी, उसके बाद खाना खाया, फिर उसको कार में बिठा के लॉन्ग ड्राइव पे ले गया. फिर मैं दीदी को उठा कर दूसरे रूम में ले गया क्योंकि वहाँ उनकी बेटी सो रही थी.

इधर मेरी अपनी वैवाहिक सैक्स-लाइफ बहुत बढ़िया थी! तो मुझे भी जिंदगी से कोई ख़ास शिक़वा नहीं था. नागपुर पीछे छूट चला था पर हम दोनों ससुर बहू अपने केबिन से बाहर की दीन दुनिया से बेख़बर अपनी ही दूसरी दुनिया में खोये हुए मजा कर रहे थे. अब वो 69 की स्थति में मेरा लंड पकड़ कर चूसने लगी और मैं चुत और गांड बारी बारी से उंगली पेलने लगा.

मैंने रात भर नेट पर ऐसी क्रूर औरतों के बारे में सर्च किया और ये जाना कि ऐसी औरतों को मिस्ट्रेस या मालकिन कहते हैं.

अब मुझे अपनी बेबकूफी और उसकी चालाकी पर हँसी आने लगी, यानि उसने इशारे में ही मुझसे चुदवाने की बात बोल दी थी. मैंने उसकी चूत पर लौड़ा रखा और अपने लण्ड पर ढेर सारा थूक लगा लिया। एक हाथ से उसके मम्मे दबा रहा था. जब तक सिराज ने खुद को साफ़ किया, तब तक दो लोगों ने मुझे उठा कर आग के पास ले जाकर बिठाया। एक कम्बल ओढ़ दिया मुझ पे और व्हिस्की की बोतल खोल कर मेरे होटों से लगा दी.

भाभी ने मस्ती में मुझे अन्दर बुला कर एक धौल मारी और बोलीं- मुझे बाद में उसके सामने जाने में शरम आएगी. कुछ देर के बाद हम दोनों झड़ गए और चाचा ने अपना माल मेरी चूत में नहीं गिराया, लंड बाहर निकाल लिया. अपनी खुशी चाहना और अपनी इच्छाओं को पूरा करना कोई गलत तो नहीं!मैंने कहा- नहीं.

फिर मैं झड़ने वाला था तो मैंने मामी से बोला तो उन्होंने कहा- अन्दर ही छोड़ दो. वो घुसेगा तो मेरी ही में है न?”अरे वो नहीं घुसेगा तेरी में; अभी तो सिर्फ एन्जॉय करेंगे अलग तरीके से!”अच्छा ठीक है, बताओ क्या करना है?” बहूरानी बोली.

मैंने कपड़े पहने, मेकअप किया, लिप एंड आई लाइनर, लिपस्टिक आदि लगा ली ताकि यहाँ के लड़के भी मेरा जलवा देख सकें और बाहर आ गई. तुमने पापा से भी मस्त चुदाई करवाई है, अब मैं भी तुम्हारे पापा जैसा हूं, मुझसे भी अपनी गांड को वैसे ही चुदवाओ. जैसे ही पैंटी के ऊपर से उसकी चुत पर हाथ गया, वो तड़प उठी, वो मेरा हाथ बाहर निकालने की कोशिश करती रही मगर मैंने हाथ बाहर नहीं निकाला.

यही सोच कर पहले मैंने केवल पहन कर देखने के लिए टॉप और स्कर्ट को भी पहन लिया और सैंडल को भी पहन कर मैंने अपने आपको जब मिरर में देखा तो मैं खुद अपने आपको देखती रह गई.

शहजाद कभी भी साथ आठ मिनट से ज्यादा नहीं टिक पाते थे, पर संजय पूरे बीस मिनट से मेरी चुत को चोद रहा था. एक दिन मैं जब काम से निकल कर मीना जी के घर गया तो जैसे उस दिन मेरी लॉटरी ही लग गई. ”भैया हमें रोशनी को पहले गरम करना है, फिर इसके बदन से चमेली की खुशबू आती है और फिर आप अपना लंड आसानी से अन्दर रगड़ सकते हैं.

सिराज कस कस के मेरी गांड मारते हुए हंस कर बोला- कोई नहीं! ये रांड है ना! इसे बजाएंगे सब मिलकर सुबह तक!यह सुन कर मेरे तो सारे पुर्जे पुर्जे ढीले हो गए. मुझे भी बचपन से ही पेंटिंग का शौक था तो मैं उसके इस हुनर से बहुत ही इम्प्रेस हुई.

लेकिन दोस्तो, इस सिलसिले में आई एक मेल बहुत दिलचस्प और ज़िक्र के काबिल है. मैं पूजा के ऊपर चढ़ गया, तभी रोशनी ने मेरे लंड पर कंडोम चढ़ाया और मैंने एक जोरदार झटके से पूजा की मुर्झाई हुई चूत में पूरा 8 इंच घुसा डाला. उसने एक बोतल मेरे गाल को लगाई। चिल्ड बियर का ठंडापन मेरी हड्डियों में फ़ैल गया.

मुसलमान बीएफ वीडियो

तो घर बंद रहता था, इसलिए हम घर की चाभी हमारे पड़ोसी के यहां रख जाते थे.

मैं पूजा के ऊपर चढ़ गया, तभी रोशनी ने मेरे लंड पर कंडोम चढ़ाया और मैंने एक जोरदार झटके से पूजा की मुर्झाई हुई चूत में पूरा 8 इंच घुसा डाला. मेरे परिवार में मेरे अलावा मेरा भाई एक अरविंद, दो बहनें रिया (रेहाना) और शीना(शाहाना) हैं. आज बड़ा सॉलिड मौक़ा था, मैं भाभी को चोद सकता था लेकिन मेरी बहन के चलते मैं उस रात कुछ कर नहीं पाया.

चाटो मेरी चूत को बहुत गर्म है आज ठंडी कर दो, तुम लोग बहुत अच्छे से चूत को चाटते हो. ऐसा कोई नहीं जो अश्लील बातें सुन कर घर जाकर मजे से मुठ ना मारता हो. हिंदी सेक्सी बीएफ नंगीमैं एक बार में ही अपना सुपारा डालना चाहता था और ये जानता था कि इससे इसे बहुत दर्द होगा.

उन्होंने बोला हमारे यहा मैरिज है तो हमें मिलेट्री बैंड और ऑर्केस्ट्रा बुक करवाना है… पैसे की फिक्र मत करिए. और उनके लंड को अपने दांतों से इतने जोर से काटा कि वो जोर से आह करते ही उठ बैठे और मुझे देखते ही बोले- मेरे रानी बेटी को आज मेरी याद कैसे आ गई?पूरी कहानी सुन कर मजा लीजिये.

बहूरानी को भी इस खेल में मजा आने लगा तो उसने अपनी पैंटी खुद ही उतार फेंकी और मेरे और नजदीक पैर खोल के बैठ गयी. और यही सोच कर अब मेरी चूत भी मजा लेने को बेताब थी, तो मैंने उसको वादा कर दिया. एक दिन मैंने भाभी से कहा- आजकल आप उदास क्यों रहती हो?भाभी ने बात को टालने की कोशिश की, पर ज्यादा जोर देने पर भाभी ने बताया कि तुम्हारे भाई आजकल काम की वजह से रात को देर से आते हैं और काम की वजह से परेशान रहते हैं.

मुझे पता था कि दर्द नहीं होगा, क्योंकि मेरी बहन आज तक ना जाने कितने लंडों से खेल चुकी थीं. एक दिन भैया मेरे रूम में आए और मुझसे बात करने लगे- सत्या कैसे हो?मैंने कहा- ठीक हूँ भैया आप कैसे हैं?वो बोले- क्या तुम बिज़ी हो?मैंने कहा- नहीं भैया. तो दोस्तो, आपको सीधा कहानी पर लेकर चलता हूँ।हुआ यूँ था कि मेरा एक दोस्त था जिसका पहले अपने घर के सामने वाली लड़की के साथ चक्कर चल रहा था जिसका नाम समीरा था और वो दोनों कम से कम साल भर साथ में रहे थे.

प्रिया के घर का माहौल बड़ा दकियानूसी सा था, अजीब ज़ाहिल लोग थे, औरतों को किसी प्रकार की आज़ादी नहीं थी.

वो भी मेरा नाम सुन कर खुश हो गई और धीमे स्वर में बोली- हां हां आलोक जी, क्या हाल हैं. उस दिन के बारे में मैंने दिव्या को भी नहीं बताया था क्योंकि वो तो हर शुक्रवार की शाम को घर चली जाती.

जब सुपारे के पास का हिस्सा बचा, तब तक उसकी शर्म और घृणा जा चुकी थी. ऐसा बोल कर मैं कंडोम लेता हुए सैंडी के यहां गया, तो वो बोला- मेरा कूलर उनके घर ले जाओ, या नहीं तो हमारे यहां ही चुदाई कर लो, मुझे कोई तकलीफ नहीं है. उनके 5 मिनट बाद ही दूसरा दोस्त भी झड़ गया, उसने अपना माल मेरी बीवी के स्तन पर निकाल कर हाथ से चारों ओर फैला दिया.

उसने एक बोतल मेरे गाल को लगाई। चिल्ड बियर का ठंडापन मेरी हड्डियों में फ़ैल गया. ”अच्छा? अगर चौड़े सीने वाले आदमी का लंड छोटा सा पतला सा हुआ तो?” मैंने हँसते हुए कहा. इसके बाद अपने हाथ को कमर से पेट की ओर ले जाते हुए उसके पेट पर हाथ फेरने लगा.

एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ लेकिन अगले ही पल ये ख्याल आया कि अगर मैंने कुछ कहा तो वो मेरी आवाज से मुझे पहचान लेगी फिर लज्जावश वो जिंदगी भर मेरे सामने नहीं आ पाएगी या कोई आत्मघाती कदम उठा ले जिसका मुझे जीवन भर पछतावा रहे… नहीं… चुप रहना ही उचित है. कुछ मिनट तक भाभी के मम्मों को चूस कर मैं नीचे भाभी की चूत की ओर बढ़ने लगा.

हिंदी बीएफ चुदाई दिखाओ

ससुर बहू के सेक्सी खेलों भरी गर्म कहानी आपको कैसी लग रही है, मुझे मेल कर के अवश्य बताएं![emailprotected]. मैं- ओके और दूसरी बात?अवी- और तुम मेरे साथ गले लग जाओ और बहुत देर तक. पता लगता था तो सुन कर कोफ़्त तो बहुत होती थी लेकिन हम क्या कर सकते थे.

मैंने उससे कहा- मैं झड़ने वाला हूँ, बोलो कहाँ निकालूँ?वो बोली- अन्दर ही डाल दो प्लीज!कुछ ही देर बाद मैं उसकी इंडियन चुत में ही झड़ गया और उसके ऊपर ही गिर गया. एक दिन मैं अपने दोस्तों के साथ कैंटीन गया, तो मुझे एक लड़के पर नज़र पड़ी. गुरु बीएफमैंने भाभी से अपने लंड को मुँह में लेने को बोला, पर भाभी को ये अच्छा नहीं लगता था, इसलिए मैंने भाभी को लंड चूसने के लिए ज्यादा जोर नहीं दिया.

इसलिए मैं किसी को जानता भी नहीं था। एक दिन सोचा शाम को थोड़ी मस्ती की जाए.

फिर रोहण मुझे किस करना शुरू कर दिया और मैं भी उसका साथ देने लगी और हमारी किस 10 मिनट तक चली। इसके बाद रोहण ने मेरी ब्रा निकाल दी और मेरे बूब्स को जानवर की तरह चूस रहा था. मैंने कहा- ऐसा क्यों?तब उन्होंने बताया कि फेसियल और आई-ब्रो की ट्रीट्मेन्ट में अक्सर मुझे सर दर्द हो जाता है.

मैं तो बहुत देर से जोया को चोदना चाह रहा था, इसलिए कुछ देर आराम करने के बाद मैंने राहुल से जोया को बेड के किनारे सिर करके चोदने को कहा. अब भाभी के तड़पने की बारी थी, भाभी बोलीं- प्लीज़ अब डाल दो ना अन्दर और मत तड़पाओ. मैं बिस्तर पर लेट गई।वो मेरे जिस्म को चूमने लगा, उसने कहा- मुझे आपसे ‘करना’ है।मैं- लेकिन नहीं.

जब दाएं निप्पल को चूसता तो बाएं को उंगलियों से दबाता जाता था और जब बाँयें को चूसता तो दांयें को उंगलियों से मींजता थाफिर उसकी मखमली कमर और नाभि को इतना चूमा कि उसने उठकर मेरे होंठों को फिर से चूम लिया.

उन दिनों काम की वजह से भाई रात को देर से आते थे और कभी कभी उन्हें अपनी साईट पर 2-3 दिन रहना भी पड़ता था. फिर मैंने उसकी पेंटी भी निकाल दी और अब वो पूरी तरह से नंगी हो चुकी थी. तो देखा उसने अपनी पैन्ट उतारी हुई थी और अपने लण्ड को मुठिया रहा था। मुझे देख कर उसने झट से पैन्ट पहन ली।मैं- यह क्या कर रहे हो?वो चुप रहा.

बंगाली बीएफ फुल एचडी वीडियोकिड अपना पूरा लंड बाहर निकाल कर मेरी जीवनसंगिनी की गांड में धकेलना शुरू हो गया. कुछ देर बाद उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में घुसा दी, मैंने भी उसकी जीभ का जी भर कर रसपान किया.

सेक्सी बीएफ हिंदी में चोदने वाली

उनकी फैमिली अमीर घर से है, पति लन्दन में रहते हैं और उनकी हेल्प के लिए मधुरा इंटरव्यू लेती हैं. पर तुम कब निकल रही हो?उसने कहा- सुबह चार बजे की गाड़ी से निकलूंगी तो नासिक दस बजे तक पहुंच जाऊँगी. मेरे फोन में मेरी एक जुगाड़ की फोटो थी, वो बहुत सेक्सी चालू खाऊ पीऊ माल थी, मेरे दिमाग में एक आइडिया आया.

और एक बार दे दी तो फिर तो जब चाहो तब उसकी चूत और मेरा लंड खेल सकेंगे. मैं आहिस्ता आहिस्ता उसे चोदने लगा।पांच मिनट के बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और देखा कि बुर से थोड़ा खून आ रहा है. वो तो मैंने पहले ही अपने हाथों से खोल रखी है पूरी… आ जाओ आप जल्दी से!” वो बेचैन स्वर में बोली.

दीदी- तुम कुछ लोगे चाय कॉफी?मैं- नहीं दीदी, थॅंक्स, मैं अभी घर से नाश्ता करके ही आया हूँ. यदि मुझे आपको बोलना होता कि आप दे दो, तो मैं अपने दोस्त के लिए थोड़ी बात करता. सुमित ने अपने हाथ ऊपर बढ़ाना शुरू किया और अपनी गर्म सांसें और तेज़ माया के पेट पे छोड़ने लगा.

उस मेल में लिखने वाले/वाली ने मुझे चैलेंज के साथ हूल दी कि मैंने अपनी जिंदगी में घटी एक सच्ची घटना को मिर्च-मसाला लगा के पाठकों को पेश कर दिया. दोस्तो, मैं ये चुदाई की सेक्स स्टोरी आप लोगों के साथ इसलिए शेयर कर रहा हूँ क्योंकि मैं आज तक इससे बाहर नहीं आ पाया हूँ, मैं अभी भी इस खेल में लिप्त हूँ.

तो सपना ने अपनी जींस की बेल्ट को खोल दिया और मेरा हाथ पकड़ कर उसकी पेंटी के अन्दर कर दिया.

पांच दस मिनट किस कर कर मैंने उसे कहा- अब तुम्हारी बारी, मुझे किस करो…वो भी मुझे किस करने लगी. बीएफ फोटो के साथलगभग दस मिनट इसी तरह चोदन के बाद मैं बोला- माँ, मैं झड़ने वाला हूँ!तो माँ बोली- मेरी चूत में ही निकाल बेटा, मेरा भी होने वाला है!और मैं ‘फ़च… फ़च… फ़च…’ मां की चुत में धक्के मारते हुए उनकी चूत में ही झड़ गया और वो भी मेरे साथ में ही झड़ गयी।झड़ने के बाद मैं उनको पकड़ कर ऐसे ही कुछ देर उनकी चूत में लंड डाल के सोया रहा, फिर कुछ देर बाद मैं फिर से लंड को अंदर बाहर करने लगा. सेक्सी फिल्में वीडियो बीएफमैं- प्रिय तुम्हारी चूत ने हथियार को देखा परखा है कि नहीं?कल्याणी ने हाथ से मेरे खड़े लंड को पकड़ा और सिर नीचे करके देखा- हाय राम कितना मोटा और लंबा है रे बाबा. मैं ये जानना चाहता था कि मेरी दीदी कैसे उन कुत्तों की मालकिन बन गईं और उन पर इतने जुल्म के बाद भी उन्हें कुछ नहीं हुआ.

यह सारा चुदाई का प्रोग्राम आधे घंटे तक चलता रहा, तब कहीं जाकर मेरा पानी निकला.

अब मैं अपनी दीदी को बहन की नजर से नहीं बल्कि एक जवान लड़की की नजर से देखने लगा. मेरी कामुकता बढ़ता देख, उसने भी मुँह में ही मेरा सारा माल ले लिया और लंड रस पी गई. मैं- क्या? ऐसी बातें करते हैं? अच्छा तुम्हें क्या लगता है अंजू?अंजू- आपको देख कर नहीं लगता कि आप छोटे कपड़े पहनती होंगी क्योंकि मैंने आपके सारे कपड़े देखे हैं, वो तो ऐसे ही हैं.

मैं उसके बेड पर लेट गई, लेटते समय मैंने जानबूझ कर अपना टॉप थोड़ा ऊपर को कर लिया ताकि कमल को मेरी कमर और चूचियां अच्छे से दिखाई दे जाएं. जैसे मैंने बताया कि पहले शाट के साथ मैं निप्पल भी चबाने वाला था, जैसे मैंने निप्पल चबाते हुए पहला शाट मारा, भाबी की चीख निकल गई. मैंने उससे पूछा- तुम्हे अच्छा लगा या नहीं!वो मेरे वक्ष से लिपट कर बोली- जीजू…और हाँ में अपनी गर्दन हिला दी.

बीएफ पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर

संजना ने कहा- अब शुरू करें?उसने कहा- ओके मैम।उसने पूछा- पहले किसके साथ करना है?संजना ने मेरी ओर उंगली से इशारा करके कहा- इनके साथ करना है।संजना सोफे पर जाकर बैठ गयी फिर उस बॉय ने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और बेड पर लेटा दिया। वो मेरे करीब आ गया और उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया।उसने मुझे 15 मिनट तक किस किया, फिर वो मेरे गले को चूमने लगा. पर मुझे तो तेरे साथ सोना है ना… प्लीज… ना मत कर…” मैं आगे हुआ और उसके हाथ को चूमा और कहा- एक चान्स दे दो प्लीज… तुम्हें नाराज नहीं करूँगा. अब आगे:इस घटना को हुए दो साल बीत चुके है, राहुल अब पूरा मर्द बन चुका है, आज उसकी जिंदगी बिल्कुल वैसी ही है जैसी की किसी दूसरे अमीर, हैंडसम और विश्वास से भरे हुए युवक की होती है। एक गर्लफ्रैंड बनती है… कुछ दिन तक मिलना जुलना, फिर चुदाई, उसके बाद झगड़े शुरू! और दोनों ही अपने अपने रास्ते और अगला रिश्ता शुरू!अब तक राहुल तीस से ज्यादा कॉलेज की लड़कियाँ पटा कर चोद चुका है.

पहले चाची कुछ सोचने लगीं, फिर मान गईं और कहने लगीं- तेरा बहुत बड़ा लंड है आराम से करना.

उसके आने से मेरी नींद खुल गई और मैं बिना टीशर्ट के ही कोमल के सामने चला गया.

मेरे साथ साथ अंजलि ने भी परम आनन्द को प्राप्त कर लिया था जो उसके चूतड़ उछालने और उसकी सिसकारियों, किलकारियों से स्पष्ट दिखाई दे रहा था. पूरी होने पर वह उसी से शादी करेगा तो वही तुझे अपने पापा से मिलवाएगा बस. बीएफ सेक्सी पोर्न वीडियोलेकिन अगले दो दिन मैं उसका इंतज़ार करता रहा और अपने लंड को समझाता रहा कि चिंता मत कर, चूत का इंतज़ाम हो गया है और मुठ मारकर सो जाता.

वह भी देखने में मोना से कहीं से भी कम नहीं थी, वैसे भी उनकी बिरादरी में लड़कियां होती ही ज्यादा सुन्दर हैं. जब चूत चटवाने का सीन आया तो वो बोली- क्या ये भी देखना अच्छा लगता है?हाँ. पाँचवें पेग के बाद वो अकीरा को गोद में उठाये ही खड़ा हो गया और दे दनादन अकीरा को चोदना शुरू कर दिया.

सफेद रंग की भीगी ब्रा और उसके अन्दर छोटे से दो नींबूओं की सख्ती, मन को बेचैन किये दे रही थी. कुछ देर में भाभी अपने देवर की कमर पकड़ कर अपनी चूत पर और तेज धक्का देने में मदद करने लगीं, साथ ही उनकी देह अकड़ने लगी, तो मैं समझ गई कि वो अब निकलने वाली हैं.

मैंने भाभी की चुत का सारा पानी पी लिया और चुत को तौलिया से पोंछ दिया.

करीब 15 मिनट बाद मैं उनकी गांड में ही झड़ गया और हम दोनों एक साथ बेड पर गिर पड़े. फिर हम लगातार एक दूसरे को किस करने लगे और मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा एक हाथ उसके मम्मों को और एक उसके गांड को दबा रहे थे. माया ने अपनी गाड़ी पार्किंग में लगाई और तेज़ कदमों से अपने केबिन की तरफ बढ़ चली.

जंगल की बीएफ देहाती पर तुम्हारे जिस्म का जादू आनन्द पर भी सवार है, ध्यान रखना मोना डार्लिंग. बात आज से 12 साल पहले की है, जब मैं जॉब के सिलसिले में अपने जीजाजी के पास जयपुर गया था.

मैंने मन ही मन वर्षा से कहा कि माफ़ करना मेरी प्यारी बहन मैंने तुझे इतना तड़पाया कि मैं कभी खुद को माफ़ नहीं कर सकूंगी. मैं- मामी कैसी लगी मेरी चुदाई?मामी- मैं तो धन्य हो गई तुम्हारे लंड से… पहली बार इतना बड़ा लंड लिया है, मजा आ गया. फिर वापस आ जाना लेकिन पहले शालू को दिल्ली छोड़ आना, ये नहीं कि यहीं से बैठा दो और कहो अकेली चली जाओ.

बीएफ सेक्सी वीडियो झारखंड

चाचा मेरी चूची को अब अपने मुख में लेकर चूसने लगे, मैं सिसकारियाँ भर रही थी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह ओह्ह ओह्ह!और वो मेरे निप्पल को चूस रहे थे और दूसरी चूची को मसल रहे थे. दीदी बोलीं- ठीक है चल पहले तू अपने कपड़े उतार दे और मेरे कमरे में आ जा. जल्दी ही बहूरानी की चूत ने मेरा लंड एडजस्ट कर लिया और वो सटासट अन्दर बाहर होने लगा.

सिराज ने मेरे बालों को जकड़ा और मेरे मुँह को मेरी चुत समझ कर वो उसे चोदने लगा. उस्मान फटाफट वहां से निकल गया और माया भी इस वक्त एमडी से नहीं मिलना चाहती थी, इसलिए वो भी अपनी गाड़ी में बैठ कर अपने घर की तरफ निकल पड़ी.

लंड घुसते ही उसकी आँखें चौड़ी हो गईं और मुँह से एक जोर की आवाज़ निकल पड़ी- आआआअ म्म्म्मम.

भाभी ने अपनी टांगें खोल दी थीं और मेरा सर पकड़ कर मुझे दूध चुसाने लगी थीं. आज एक पतिव्रता बीवी, जिसने कभी किसी गैर मर्द की तरफ आंख उठा कर भी नहीं देखा, वो आज गैर मर्द को अपना सब कुछ सौंपने जा रही थी. मेरे घर में मेरे पति के अलावा मेरे सास ससुर और एक नटखट देवर भी है, उसका नाम अरविन्द है.

मैं जब जवानी की दहलीज पर कदम रख ही रहा था और वो पूरी मस्त जवान हो चुकी थीं. अब मैंने चॉकलेट उठाई और उसका रैपर फाड़ते हुए चॉकलेट अपने लंड पर लगाई और थोड़ी सी उनकी चूत पर लगा दी. वो बोली कि हां बदल तो मेरी भी रही हैं लेकिन हमारी इस फीलिंग्स का कोई फायदा नहीं.

फिर एक दिन मैंने इंटरनेट पर सर्च किया तो प्राइवेट योग टीचर का पता मिला.

एक्स एक्स एक्स इंडियन देसी बीएफ: अब वो चुदाई का मजा लेना चाहते थे, सो वो मेरे टाँगों के बीच में आकर अपने लौड़े से बुर की फांक को चौड़ा कर रगड़ने लगे. वो मानने को राजी नहीं था।अंततः मेरे लौड़े ने मधु की गाण्ड में अपनी नोक लगा दी। जिदगी में पहली बार मेरे लौड़े ने इतना सुख पाया था। मुझे मधु बहुत हसीन लग रही थी।हम दोनों कुछ देर यूं ही पानी में खेलते रहे और जब वापस किनारे पर आये तो मधु उतर कर चलने को हुई। लेकिन मेरा लौड़ा अब भी तन्नाया हुआ था.

तभी दीदी ने अपना सर नीचे कर लिया; मैंने भी हाथ से दीदी के सर को पकड़ा और उसका फेस ऊपर कर दिया, दीदी ने एक पल मेरी तरफ देखा. मैंने देखा कि मम्मी उठ कर जाने लगीं, तो फूफा जी ने उन्हें पीछे से पकड़ लिया और उनकी गर्दन पर किस करने लगे. वैसे भी कई सालों तक मोहन लाल की पत्नी को दो लोगों से चुदने की आदत हो चुकी थी.

मैं भी अब थोड़ा चालाक हो गया था, जल्दी किसी के अंटे में नहीं आता था.

अब चूँकि एक बार स्खलित हो चुकी थी तो वर्षों की प्यास कम हो चुकी थी, पर पूर्ण शांति नहीं हुई थी. मेरा कुर्ता ऊपर उठ गया, मैंने ब्रा भी नहीं पहनी थी, तो सीधे उसके हाथों में मेरी दोनों चुचियां थीं. मैं समझ गया कि अब भाभी को मजा आने लगा है, मैंने हल्के हल्के धक्के लगाने लगा.